भारत ने किया अपनी सुपर किलर मिसाइल का सफल परीक्षण

- Advertisement -
- Advertisement -

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि। भारत ने बुधवार को स्वेदशी रुद्रम-II एयर-टु-ग्राउंड मिसाइल का सफल परीक्षण किया। ओडिशा के तट से सुखोई-30 MKI फाइटर प्लेन से इसे लॉन्च किया गया। DRDO की बनाई 350 किमी की स्ट्राइक रेंज वाली ये मिसाइल नई जेनेरेशन की एंटी-रेडिएशन मिसाइल है, जो जमीन पर बने दुश्मन के सर्विलांस, कम्युनिकेशन, रडार और कमांड और कंट्रोल सेंट्रर्स को नष्ट कर सकती है।

यह लॉन्चिंग से पहले और उसके बाद भी टारगेट को लॉक कर सकती है। रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक, फ्लाइट टेस्ट में इसके सभी रेंज ट्रेकिंग इंस्ट्रूमेंट जैसे- इलेक्ट्रो-ऑप्टिकल सिस्टम, रडार और टेलिमेट्री स्टेशन पर नजर रखी गई। इसकी सभी तकनीकों का प्रदर्शन अच्छा रहा।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने DRDO, भारतीय एयरफोर्स और इंडस्ट्री पार्टनर्स को रुद्रम-II के सफल परीक्षण पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस सफल टेस्ट से भारतीय सुरक्षाबलों में रुद्रम-II सिस्टम की भूमिका ताकत बढ़ाने वाली मिसाइल के तौर पर तय हो गई है।

इससे पहले अक्टूबर 2020 में रुद्रम-I मिसाइल का फाइनल टेस्ट किया गया था। इस मिसाइल की रेंज 150 किमी थी और INS-GPS नेविगेशन सिस्टम से लैस थी। ये मिसाइलें लंबी दूरी से दुश्मन के एयर डिफेंस को तबाह करने के लिए बनाई गई हैं। इनकी मदद से भारतीय एयरफोर्स बिना किसी बाधा के बम बरसाने के मिशन को पूरा कर सकेंगे। 550 किमी रेंज वाली रुद्रम-III भी निर्माणाधीन है।

इस मिसाइल को भारतीय परंपरा को कायम रखते हुए संस्कृत शब्द रुद्रम दिया गया, क्योंकि इसमें ARM (एंटी-रेडिएशन मिसाइल) भी शामिल है। इस शब्द के कई अर्थ हैं। इनमें एक अर्थ दुखों को दूर करने वाला है। सही मायनों में रुद्रम मिसाइल हवाई युद्ध में दुखी करने वाले दुश्मन के राडार को उड़ाकर अपने नाम को सही साबित कर सकती है।

- Advertisement -

Latest news

Kedarnath Dham जाने वाले पैदल मार्ग पर भूस्खलन ,मलबे में दबे 3 तीर्थयात्रियों की मौत

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि I उत्तराखंड से इस समय एक दुःखद खबर सामने आ रही है. रविवार सुबह बड़ा हादसा हो गया....
- Advertisement -

ज़रूर पढ़े

इंदौर: नाबालिग को हुआ पंजाब के लड़के से प्रेम, पबजी खेल से हुई थी दोनों की जान- पहचान, पहुँच गयी पंजाब उससे मिलने

परिजनों की गुमशुदगी की शिकायत पर; पुलिस ने कॉल डिटेल निकाली तो दस दिन बाद आरोपी और लड़की को इंदौर ले आई।...

सिंधिया: किसने क्या किया- क्या नहीं किया, कांग्रेस को खुद नहीं पता अपने नेताओं के बारे में

कांग्रेस खुद ही नहीं जानती कि उनके नेता ने क्या किया और क्या नहीं. कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य...

Related news

चांदीपुरा वायरस बुखार, फ्लू जैसे लक्षणों के साथ शुरू होने वाला ये संक्रमण बच्चों में इंसेफेलाइटिस का कारण बन सकता है रखे ख़ास ध्यान

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि | सिविल अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञों ने 10 जुलाई को चार बच्चों की मौत के लिए चांदीपुरा वायरस...

माध्यमिक शिक्षक संघ(यूपी) ने मानसिक रूप से स्वतंत्र होकर कार्य करने की मांग की

ऑनलाइन हाजिरी के विरोध में किया प्रदर्शन राष्ट्र आजकल/प्रदीप बच्चन/ बलिया यूपी बलिया (यूपी) के उप्र...

बांग्लादेश में सड़क पर क्यों उतरे छात्र? आरक्षण को लेकर पूरे देश में बवाल के पीछे क्या है वजह

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि/ बांग्लादेश में सरकारी नौकरियों में आरक्षण के खिलाफ जारी विरोध-प्रदर्शन अब उग्र हो चला है। प्रदर्शनकारियों ने गुरुवार शाम...

मेरा संसद में पहला प्रश्न बैरसिया में रेलवे स्टेशन की मांग का होगा: आलोक शर्मा

राष्ट्र आजकल/ सुनील राजपूत/डुंगरिया बैरसिया बैरसिया की जनता ने भाजपा को वोट देने से आजादी के बाद पहली बार...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here