भारतीय नेविगेशन कंपनी ‘मैपमाईइंडिया’ की ओर से विकसित देसी नेविगेशन ऐप MAPPLS की धाक लगातार बढ़ रही

- Advertisement -
- Advertisement -

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि | Google Map को बीते कुछ समय से वैश्विक स्तर पर कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ा है। भारतीय नेविगेशन कंपनी ‘मैपमाईइंडिया’ की ओर से विकसित देसी नेविगेशन ऐप MAPPLS की धाक लगातार बढ़ रही है और यूजर्स इसे पसंद भी कर रहे हैं। नेविगेशन के मामले में Google Map लंबे समय से हावी रहा है, जो रास्ता दिखाने, ट्रैफिक अपडेट देने के साथ-साथ रियल टाइम लोकेशन जैसी सेवाएं देता है। लेकिन अब गूगल मैप को भारत में तैयार एक नया दावेदार MAPPLS कड़ी टक्कर दे रहा है। यहां जानें MAPPLS में ऐसी क्या खूबियां हैं, जो गूगल मैप्स में नहीं है।आपको बता दें कि MAPPLS भारत की स्वदेशी उपग्रह नेविगेशन प्रणाली NAVIC से डाटा लेता है और यूजर्स को नेविगेशन सेवाएं देता है। गूगल मैप्स की तुलना में MAPPLS संभावित रूप से भारतीय भूभाग में ज्यादा सटीक जानकारी देता है। वहीं दूसरी ओर Google Map की बात की जाए तो यह Earth Viewer पर निर्भर है, जो Google Earth के लिए विकसित की गई तकनीक है।  MAPPLS स्पीड लिमिट को दिखाता है, जिससे यूजर्स को यातायात नियमों के उल्लंघन से बचने में मदद मिलती है। यूजर्स सफर के दौरान खुद को सही स्पीड के साथ नेविगेट कर सकता है। यह शानदार फीचर गूगल मैप में नहीं है MAPPLS सिर्फ रास्ता बताने या रियल टाइम लोकेशन बताने का ही काम नहीं करता है, बल्कि यह ट्रैफिक सिग्नल, सड़क के गड्ढों के अलावा रास्ते में आने वाली अन्य बाधाओं के प्रति भी अलर्ट देता है। ऐसे फीचर गूगल मैप में बहुत ज्यादा अपग्रेड नहीं है।

- Advertisement -

Latest news

Kedarnath Dham जाने वाले पैदल मार्ग पर भूस्खलन ,मलबे में दबे 3 तीर्थयात्रियों की मौत

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि I उत्तराखंड से इस समय एक दुःखद खबर सामने आ रही है. रविवार सुबह बड़ा हादसा हो गया....
- Advertisement -

ज़रूर पढ़े

इंदौर: नाबालिग को हुआ पंजाब के लड़के से प्रेम, पबजी खेल से हुई थी दोनों की जान- पहचान, पहुँच गयी पंजाब उससे मिलने

परिजनों की गुमशुदगी की शिकायत पर; पुलिस ने कॉल डिटेल निकाली तो दस दिन बाद आरोपी और लड़की को इंदौर ले आई।...

सिंधिया: किसने क्या किया- क्या नहीं किया, कांग्रेस को खुद नहीं पता अपने नेताओं के बारे में

कांग्रेस खुद ही नहीं जानती कि उनके नेता ने क्या किया और क्या नहीं. कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य...

Related news

अरविंद केजरीवाल को मिलेगी जमानत? दिल्ली हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि/ शराब नीति केस में दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को चुनौती देने वाली याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट...

यूपी के 20 जिलों में बाढ़ का कहर;वाराणसी में गंगा का जलस्तर हर घंटे 5-10 CM बढ़ रहा

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि I उत्तर प्रदेश के 20 जिलों में बाढ़ के हालात हैं। नेपाल बॉर्डर की नदियों के साथ ही...

एक पेड़ गौ माता के नाम

राष्ट्र आजकल/रिज़वान मंसूरी/सिहोरा जबलपुर गोसलपुर के तत्वधान में वृक्षारोपण एवम् गौ माता संगोष्ठी का आयोजन रविवार को किया गया!...

22 जुलाई से शुरू होने जा रहा है सावन माह, शिव महापुराण के अनुसार शिव वास योग बेहद शुभ

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि | पवित्र सावन माह 22 जुलाई से शुरू होने जा रहा है। यह महीना भगवान शिव को अति प्रिय...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here