नगर निगम ने शहर की सड़कों के गड्ढों को ढांकने का काम शुरू कर दिया, अब तक आठ करोड़ रुपये ठिकाने लगा चुकी, फिर भी नहीं सुधरी सदके

- Advertisement -
- Advertisement -

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि, ग्वालियर | नगर निगम ने शहर की सड़कों के गड्ढों को ढांकने का काम शुरू कर दिया है। डामर की सड़कों पर मुरम-गिट्टी का लेप लगाया जा रहा है, इससे गड्ढे भरे तो गए पर परेशानी बढ़ा गए। गड्ढों में भरी जाने वाली गिट्टी और मुरम वाहनों के गुजरने से सड़क पर फैल रही है और हवा में धूल का गुबार बना रही है। इससे परेशानी दो पहिया वाहन चालक और राहगीरों को सबसे अधिक हो रही है। लेकिन नगर निगम अफसरों को इससे कोई मतलब नहीं है क्योंकि निगम के सड़क मरम्मत के लिए जो थोड़ा बहुत ही बजट बचा है उसे ठिकाने की कवायद शुरू हो चुकी है। गौरतलब है कि नगर निगम शहर की टूटी सड़कों के संधारण के नाम पर अब तक आठ करोड़ रुपये ठिकाने लगा चुकी है, लेकिन गड्ढे हैं कि कम होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। टूटी सड़कों से शहर में प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। टूटी सड़कों पर नगर निगम ने दिखावे की मरम्मत करना शुरू की है। सिटी सेंटर में आयकर भवन के पीछे सड़क पर आधा-आधा फीट के गड्ढों को भरने के लिए बुधवार की सुबह गिट्टी-मुरम से भरकर वाहन पहुंचे। उन्होंने कुछ गड्ढों को तो भरा पर कुछ को छोड़ दिया है। इन गड्ढों में गिट्टी और मुरम डाली गई है जब उस पर से होकर वाहन गुजरते ही वह गड्ढों से बाहर निकलकर सड़क पर बिखर गई है। शहर में गैस पाइप लाइन बिछाने के नाम पर सड़कों को उखाड़ दिया है। लेकिन निगम अफसरों का इन सड़कों को तोड़ने वालों पर ध्यान नहीं है। अवंतिका गैस की पाइप लाइन दिनों सिटी सेंटर क्षेत्र में डाली जा रही है। जिसने जगह जगह सड़क को खोद दिया है। नियमानुसार 15 दिन में सड़क की मरम्मत करना होती है लेकिन कंपनी सड़क खोदकर छोड़ गई और निगम अफसर आंख मूंदकर बैठे हुए हैं, जबकि सड़क की खोदाई करने वाली कंपनी से निर्धारित सीमा में मरम्मत का काम कराना चाहिए। बेमौसम वर्षा का पानी इन दिनों शहरवासियों की परेशानी बढ़ा रहा है। सड़क के गड्ढों में वर्षा का पानी भरन से कीचड़ हो रखा और खुले प्लाट में पानी भरने से मच्छर पैदा होने का खतरा बढ़ गया है। इसी तरह शहर के कई पार्कों में वर्षा का पानी भरा हुआ है, जो आमजन के लिए मुसीबत का काम करने वाले हैं क्योंकि इससे बीमारी फेल सकती हैं और डेंगू मलेरिया का प्रकोप बढ़ सकता है। लेकिन इस पर निगम अफसरों का ध्यान नहीं है। इसलिए ना तो दवा का छिड़काव किया जा रहा है और प्लाट व पार्कों से पानी की निकासी की जा रही है।

- Advertisement -

Latest news

एक सड़क दुर्घटना में दो युवकों की मौत, मृतकों के शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजे

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि बुरहानपुर। इंदौर-इच्छापुर हाइवे के खातला फाटे के पास बुधवार दोपहर एक सड़क दुर्घटना में दो युवकों की मौत हो गई।...
- Advertisement -

ज़रूर पढ़े

इंदौर: नाबालिग को हुआ पंजाब के लड़के से प्रेम, पबजी खेल से हुई थी दोनों की जान- पहचान, पहुँच गयी पंजाब उससे मिलने

परिजनों की गुमशुदगी की शिकायत पर; पुलिस ने कॉल डिटेल निकाली तो दस दिन बाद आरोपी और लड़की को इंदौर ले आई।...

सिंधिया: किसने क्या किया- क्या नहीं किया, कांग्रेस को खुद नहीं पता अपने नेताओं के बारे में

कांग्रेस खुद ही नहीं जानती कि उनके नेता ने क्या किया और क्या नहीं. कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य...

Related news

आ गया Vodafone Idea 18,000 करोड़ का FPO, 18 अप्रैल को खुलेगा

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि। वित्तीय संकट से जूझ रही टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन-आइडिया (VI) ने 18,000 करोड़ रुपए का फॉलो-ऑन पब्लिक ऑफर यानी...

पाकिस्तान में बारिश से मरने वालों की संख्या बढ़कर 50 हुई

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि। संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और ओमान के बाद अब पाकिस्तान में भी भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात बन...

पहले से ही IPS अफसर हैं UPSC की टॉप-5 रैंक में आने वाले ये तीनों टॉपर

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने मंगलवार को सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन- 2023 का रिजल्ट जारी कर दिया। 1016 कैंडिडेट्स...

MP-बिहार समेत 14 राज्यों में आज बारिश की संभावना, अभी-अभी आया मौसम का ताजा अपडेट

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि। देश के 14 राज्यों में रविवार को कहीं-कहीं हल्की बारिश हुई। मध्य प्रदेश में देर शाम करीब आधे घंटे...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here