सूर्य भगवान के 12 मंत्रों का करें जाप,सूर्य की उपासना करने पर शीघ्र ही उनकी कृपा प्राप्त होती है

- Advertisement -
- Advertisement -

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि | शास्त्रों की मान्यता के अनुसार रविवार का दिन भगवान सूर्य को समर्पित है। इस दिन भगवान सूर्य की उपासना करने पर शीघ्र ही उनकी कृपा प्राप्त होती है। रविवार के दिन भक्ति भाव से किए गए पूजन से प्रसन्न होकर सृष्टि के प्रत्यक्ष देवता सूर्यदेव अपने भक्तों को आरोग्य का आशीर्वाद प्रदान करते हैं। प्रत्येक रविवार, सप्तमी तिथि, सूर्य संक्रांति या नित्यप्रति सूर्य की उपासना का विधान शास्त्रों में बताया गया है। प्रातःकाल नहाकर उगते हुए सूर्य को जल देने के लिए तांबे के लोटे में जल, लालचन्दन, चावल, लालफूल और कुश डालकर प्रसन्न मन से सूर्य की ओर मुख करके कलश को छाती के बीचों-बीच लाकर सूर्य मंत्र का जप करते हुए जल की धारा धीरे-धीरे प्रवाहित कर भगवान सूर्य को अर्घ्य देकर पुष्पांजलि अर्पित करना चाहिए। इस समय अपनी दृष्टि को कलश की धारा वाले किनारे पर रखेंगे तो सूर्य का प्रतिबिम्ब एक छोटे बिंदु के रूप में दिखाई देगा एवं एकाग्रमन से देखने पर सप्तरंगों का वलय नजर आएगा। अर्घ्य के बाद सूर्यदेव को नमस्कार कर तीन परिक्रमा करें

सूर्य भगवान के 12  मंत्रों का जाप करें
ॐ सूर्याय नम:
ॐ भास्कराय नम:
ॐ रवये नम:
ॐ मित्राय नम:
ॐ भानवे नम:
ॐ खगय नम:
ॐ पुष्णे नम:
ॐ मारिचाये नम:
ॐ आदित्याय नम:
ॐ सावित्रे नम:
ॐ आर्काय नम:
ॐ हिरण्यगर्भाय नम:

सूर्य नारायण के इन मंत्रों का जप करने से घर में जीवन भर सुख, समृद्धि बनी रहेगी और परिवार के लोगों को अच्छी सेहत का वरदान भी मिलेगा। इसके अलावा जीवन में आने वाले कष्टों से छुटकारा भी मिलेगा।

- Advertisement -

Latest news

Kedarnath Dham जाने वाले पैदल मार्ग पर भूस्खलन ,मलबे में दबे 3 तीर्थयात्रियों की मौत

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि I उत्तराखंड से इस समय एक दुःखद खबर सामने आ रही है. रविवार सुबह बड़ा हादसा हो गया....
- Advertisement -

ज़रूर पढ़े

इंदौर: नाबालिग को हुआ पंजाब के लड़के से प्रेम, पबजी खेल से हुई थी दोनों की जान- पहचान, पहुँच गयी पंजाब उससे मिलने

परिजनों की गुमशुदगी की शिकायत पर; पुलिस ने कॉल डिटेल निकाली तो दस दिन बाद आरोपी और लड़की को इंदौर ले आई।...

सिंधिया: किसने क्या किया- क्या नहीं किया, कांग्रेस को खुद नहीं पता अपने नेताओं के बारे में

कांग्रेस खुद ही नहीं जानती कि उनके नेता ने क्या किया और क्या नहीं. कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य...

Related news

डॉ. कलाम रत्न सम्मान के लिए संदीप का चयन

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि राजस्थान | दौसा जिले के सामाजिक कार्यकर्ता, सामाजिक विषय लेखन साहित्यकार, महिला सशक्तिकरण व पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य...

नाबालिग बेटी की तलाश में दर दर की ठोकरें खाता हुआ पिता

राष्ट्र आजकल / बब्लू शर्मा / लटेरी विदिशा आखिरकार,कब मिलेगा इस असहाय पिता को इन्साफ़

एक छत के नीचे भगवान और अल्लाह को साक्षी मानकर परिणाम बंधन में बंधे 35 जोड़े

राष्ट्र आजकल/बबलू शर्मा/लटेरी विदिशा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अंतर्गत नवीन मंडी परिसर में क्षेत्रीय विधायक उमाकांत शर्मा के निर्देशन...

हरियाली तीज का दिन महिलाओं के लिए होता है, बेहद खास,और सजने के लिए कुछ आइडियाज ढूंढ रही हैं आप, तो परेशान न हों,...

राष्ट्र आजकल प्रतिनिधि | इस पूरे महीने त्योहारों की झड़ी लगी रहती है। इन्हीं त्योहारों में हरियाली तीज भी शामिल है। सुहागिन महिलाओं...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here